Festivals

Poem On Holi In Hindi – होली पर कविता हिंदी में

poem on holi in hindi
Written by admin

Holi Poem In Hindi के इस आर्टिकल की शुरुवात करने से पहले हम आपने सभी दोस्तों और प्यारे बच्चो को होली पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ! अगर आप Poem On Holi in Hindi के तलाश में हैं, तो मै आपको बता दूं की आप बिलकुल सही जगह पर है!

भारत एक ऐसा देश है जिसमे अनेक त्यौहार मनाये जाते हैं, उन्ही में से एक होली का त्योहार भी है.होली हम भारतीयों के लिये सांस्कृतिक और पारंपरिक उत्सव में से एक है जिसे हम सभी बेहद खुशी के साथ मनाते है!

दोस्तों हमने इस आर्टिकल में होली  के लिए बहुत ही अच्छी-अच्छी होली पर कविता को लिखा है! होली के पावन पर्व पर आप होली पर कविता हिंदी में का उपयोग आसानी से कर सकते है! आप इन Holi Poems In Hindi Funny को अपने वाट्सएप्प, फेसबुक पर अपने स्टेटस के रूप में भी उपयोग कर सकते हैं!

यहाँ पर जितनी भी Holi Poem In Hindi Language & Image आपके साथ शेयर करने जा रही हूँ!  इनको आप फ्री डाउनलोड कर सकते हो और अगर आपको हिंदी हास्य कविता ऑन होली with Hindi poem on holi images पसन्द आये तो इनको आप सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें!

Poem On Holi for class 2,3,4, in Hindi Language

यह जो Holi poems in hindi font for kids में आपके साथ शेयर करने जा रहा हूँ ! इसको आप कॉपी कर सकते है और अपने प्यारे प्रियजनों के शेयर कर सकते है !.अगर आपको यह कविता पसन्द आये तो कमेंट करके अपने विचार हमारे साथ जरुर प्रकट करे और इस पोएम को अपने सभी मित्रों के साथ फेसबुक, ट्विटर, गूगल+ व्हाट्सएप्प और अन्य सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें.तो चलिए आपका ज्यादा  समय न लेते हुए  अपनी इस Top holi Festival Poems for kids in hindi  को पढ़ना शुरू करते है!

poem on holi in hindi

होली का है हंगामा,…उड़ता है लाल गुलाल !

इधर उधर सब दौड़ रहे है ,…तेज हो गयी है चाल

दादी जी पर रंग डाला….तो आ गया भूचाल

वो भी भागी ले पिचकारी…हो गया न आज कमाल…..

Hindi Poem On Festival For Kids 

रंग रंगीली होली आयी ….. छोटी गुड़िया माँ से बोली…

मुझको माँ पिचकारी ला दो… सुन्दर से प्यारी ला दो….

लाल पीले रंग भी ला दो……रंग बिरंगे गुब्बार दी ला दो…..

सबको मैं रंग डालूँगी….. माँ ने गुड़िया को समझाया …..

फिर प्यार से यह बतलाया…..रंग होता नहीं हैं अच्छे …..

होते हैं बीमार इस से बच्चे ….. जाओ तुम बाघ में जाओ…..

रंग बिरंगे फूल ले आओ….. बनाएंगे हम फूलो से रंग…..

फिर तुम होली खेलना सबके संग !!!!

Hindi Poem On Holi Festival

poem on holi in hindi

होली है भई होली है,…बुरा न मानो होली है!

आऒ मिल के खुशियाँ मनाएं,…अपनों को हम रंग लगाएँ!

फूलों से हम खेलें होली,….बचत करें हम पानी की!

सब मिल कर जोर से गाएं,….बुरा न मानो होली है!

किसी को ना ठेस पहुचाएं,…नए नए पकवान खाएं और खिलाएं!

खुद भी रंग लगाएं….और दूसरों पर भी अबीर लगायें

टोली बना कर गाएं हम सब…..बुरा न मानो होली है!

Best Short Poems On Holi In Hindi

मुझे उम्मीद है की उपर जो होली पर कविता  है आपको बहुत पसन्द आई होगी. यहाँ पर में आपके साथ एक और short hindi poem on holi festival शेयर करने जा रही हूँ जो इस प्रकार है!

poem on holi in hindi

रंग -रंगीली मस्ती वाला,…..आया है होली का त्यौहार….

प्रेम भाव से इसे मनायें,…..न हो कोई भी तकरार…..

रंग -बिरंगे इस पर्व पर……होता बिना किये श्रृंगार…..

नाचे गायेंग ढोल बजायें,…..हम बच्चों की टोली भरमार…..

रंग लगायें एक दूजे को,……करे प्रेम रस की बौछार,….

जाती -मजहब सब भूले आज,….बड़ों को आदर , छोटो को दें प्यार……

रीत -प्रीत , गीत -मीत और,…..रंग उमंग तरंग उपहार,…..

भेद भाव मिटाने दिल का,….आता है होली का त्यौहार…..

Latest Holi Poem In Hindi Font Lyrics

होली है है होली है …..बुरा न मनो होली है,,,..

आओ मिल कर खुशियां मानें ….

फूलूँ से हम खेलें होली…. बचत करें हम पानी की …

सब मिल कर जोर से गायें… बुरा न मनो होली है…..

किसी को न ठेस पहुचाएं….नए नए पकवान खाएं और खिलाएं…

खुद भी रंग लगाएं ……..और दूसरों पर अबीर …..

टोली बना कर गायें हम सब…. बुरा न मनो होली है……

Romantic Hindi Love Poem on Holi – होली आज मनाना है

poem on holi in hindi

तुमको रंग लगाना है……होली आज मनाना है!

प्रतिकार करो इनकार करो…..पर रगों को स्वीकार करो

रगों से तुम्हें नहलाना है…..होली आज मनाना है!

भर पिचकारी बौछार जो मारी……भीगी चुनरी भीगी साड़ी…

अपने ही रंग में रंगवाना है…..होली आज मनाना है!

अबीर गुलाल तो बहाना है…..दूरियाँ दिलों की मिटाना है…

तो कैसा ये शरमाना है……होली आज मनाना है!

Poem On Holi In English

Gulal – red, green, yellow and countless……A day’s canvas – a riot of colors.

Lively crowd running hither and thither,….

Rainbow of colors, dashing  from every nook and corner.

Disregarding their woe and despair fervent folks,

rejoicing at the marvel of colors…….A day filled with luster and gaiety,

A day to smear our dreams-….. With a splash of vibrant frenzy colors.

Holi Hai! A spring of unbounded fun and frolic!!

दोस्तों Hindi poem on Holi का ये आर्टिकल अब यही पर समाप्त हो रहा है, इसे आप अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया से शेयर भी कर सकते हैं ताकि उनको भी holi kavita in hindi की जानकारी मिले! आपको दोनों हिन्दी कविताएँ केसी लगी हमको कमेंट के जरिए जरुर बताए!

About the author

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
DMCA.com Protection Status