Pregnancy tips in hindi

Pregnancy Care In Hindi

Written by admin

Pregnancy In Hindi :- हेल्लो  दोस्तों , गर्भावस्था हर एक महिला के लिए जीवन का एक महत्वपूर्ण समय होता है, और इस समय उनको अच्छे देखभाल की आवश्यकता होती है! हर महिला की यह इच्छा होती है, की वह एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दे ! आज हम Pregnancy Care Week by Week Tips In Hindi आर्टिकल में आपको बताएँगे आप गर्भावस्था के समय किस प्रकार से खुद की देखभाल कर सकते हैं !

प्रेगनेंसी के समय गर्भ के पहले महीने से लेकर डिलीवरी तक मां और बच्चे दोनों के स्वास्थ्य के प्रति सावधानिया दिखानी चाहिए ! प्रेगनेंसी के दौरान हर महीने होने वाले टेस्ट Pregnancy Tests कराना, आयरन की गोलियां लेना, प्रेगनेंसी के दौरान डाइट Pregnancy Diet In Hindi वैसे तो Pregnancy Care tips  की लिस्ट बहुत लंबी है,

लेकिन यहाँ पर हम सिर्फ कुछ जरुरी precautions के बारे में बताएँगे जिनकी लिस्ट निचे दी गयी  है !  Pregnancy Care Tips आईये जानते है ! yoga in Pregnancy और Exercise in Pregnancy, मानसिक समस्या दूर करने के उपाय आदि जानना बेहद जरूरी है! अगर माँ कुछ बातो का ध्यान रखे तो वो अपनी और अपने बच्चे की प्रेगनेंसी में केयर कर सकती है, तो आइये जानते है की information about pregnancy in hindi क्या है ? यहाँ भी जरूर पढ़े :-  Pergnancy Tips In Hindi Month By Month

Pregnancy Care Week By Week In Hindi

 वैसे तो Pregnancy tips In Hindi  की लिस्ट बहुत लंबी है, लेकिन यहाँ पर हम सिर्फ कुछ जरुरी Precautions के बारे में बताएँगे जिनकी लिस्ट निचे दी गयी  है !  Pregnancy Care Tips आईये जानते है !

  1. किसी अच्छी महिला डॉक्टर से नियमित सम्पर्क में रहें, और उनकी सलाह के अनुसार खुद को मैनेज करें! किस महीने से आपको कौन सी चीजें करनी है और क्या नहीं करनी है ! ये बातें एक डॉक्टर हीं आपको अच्छे से बतायेंगी !
  2. रोज़ाना हल्का-फुल्का व्यायाम करे, व्यायाम करने से पहले डॉक्टर से एक बार सलाह जरुर ले !
  3. गर्भावस्था के दौरान बहुत ज्यादा मीठी चीजें नहीं खानी चाहिए !
  4. हमेशा खुश रहें, तनावमुक्त रहें क्योंकि तनाव आपके लिए और आपके बच्चे के लिए नुकसानदायक होगा !
  5. गर्भावस्था के दौरान बहुत ज्यादा मीठी चीजें नहीं खानी चाहिए !
  6. प्रेगनेंसी के टाइम पर मूड स्विंग बहुत होता है इसलिए धीमा, मधुर और अच्छा संगीत सुनें ! यह आपको तनावमुक्त रखेगा, और आपके मूड को फ्रेश करेगा !
  7. यह Pregnancy Care tips गृह कार्यों से सम्बंधित है क्योंकि घर में ही मौजूद कई चीजें महिला के लिए जोखिम भरी हो सकती हैं ! यदि हर काम अपने आप करती हैं, तो क्लीनर, थिनर और पेंट जैसे पदार्थों से दूर ही रहें ! इनकी तेज केमिकल गंध से Pregnancy में complications पैदा होती हैं !! डॉक्टर से काम से जुड़ी सलाह जरुर लें !
  8. गर्भावस्था में आपके विचार जैसे होंगे, बच्चे के विचार भी उससे प्रभावित होंगे. इसलिए अच्छे विचार पढ़ें, देखें और सुनें !
  9. हर दिन आपको 11-12 ग्लास पानी जरुर पीना चाहिए ! यह आपके लिए और आपके बच्चे के लिए बहुत जरूरी है !
  10. अगर आपकी सांस फूले तो कढ़ी में घी डालकर कुछ दिन खाने से आपको बहुत फायदा होगा !
  11. दही और बेसन को मिलाकर शरीर में उबटन की तरह मलें, इससे आपके शरीर की बदबू खत्म हो जाएगी !

Pregnancy Information In Hindi

  • गर्भावस्था में आपके विचार जैसे होंगे, बच्चे के विचार भी उससे प्रभावित होंगे. इसलिए अच्छे विचार पढ़ें, देखें और सुनें !
  • गर्भावस्था में आप जैसे वातावरण में रहेंगी, आपके बच्चे का स्वभाव भी उससे जरुर प्रभावित होगा. सकारात्मक वातावरण का सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा, तो नकारात्मक वातावरण का नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा !
  • अपने थायरायड की जाँच जरुर करवाएँ !
  • गर्भ ठहरने के 5 वें महीने से 2 संतरे आपको हर दिन खाने चाहिए नारियल भी, इससे बच्चे के गोरे होने की सम्भावना बढ़ जाएगी !
  • आप जैसी चीजें देखेंगी, जैसी चीजें पढ़ेंगी और जैसी चीजें सुनेंगी. उन सबका आपके बच्चे के स्वभाव पर प्रभाव जरुर पड़ेगा !
  • आपको हर दिन 8-9 घंटा सोना चाहिए !
  • आरामदायक जूती और चप्पल पहनने चाहिए !
  • गर्भवस्था में पैरों में ऐंठन होना साधारण बात है और ऐंठन को कम करने के लिये आपको केला खाना चाहिए. इससे दर्द कम होगा!
  • खाने में दाल, हरी सब्जियाँ, फल इत्यादि का सेवन नियमित करें !

Precautions During Pregnancy In Hindi

Pregnancy Care Tips First 3 Month In Hindi :-  माँ बनना एक स्त्री की जिंदगी की सबसे बड़ी ख़ुशी होती है !  गर्भावस्था में एक गर्भवती स्त्री के शरीर में कई बदलाव होते हैं !(Pregnancy care week by week in hindi) होनी वाली माँ को बहुत सारी चीजों से परहेज करना चाहिए, तो कई अन्य बातों का ध्यान भी रखना चाहिए, तो आइए जानते हैं कि आपको गर्भावस्था में क्या-क्या करना चाहिए और क्या-क्या नहीं करना चाहिए !

Pregnancy Guide In Hindi

  • यह pregnancy care in 6th month in hindi में डॉक्टर की सलाह के बिना ली जाने वाली दवाओं पर आधारित है ! एक Pregnant Lady को हमेशा डॉक्टर की सलाह पर ही किसी मेडिसिन का उपयोग करना चाहिए, बिना डॉक्टर की सलाह पर ली जाने वाली दवाएं Pregnancy में गलत परिणाम पैदा कर सकती है !
  • अगर प्रेगेनेंट लेडी धूम्रपान या शराब की आदी हों तो उन्हें तुरंत इसका सेवन छोड़ देना चाहिए क्योंकि सिगरेट पीने वाली महिलाओं का गर्भपात हो सकता है या Pre mature delivery भी हो सकती है ! जिससे बहुत सारी Complications का जन्म हो सकता है !
  • Pregnancy के पहले तीन महीनो में शरीर का तापमान सामान्य रहना जरुरी होता है वरना बच्चे के जन्म के समय दोष आ सकते है इसलिए Body Temperature पर ध्यान रखे !
  • अगर आप Pregnancy Lady गर्भावस्था के दौरान Pregnancy में की जाने वाली exercise करती है तो पानी व् जूस पीती रहें ! इससे शरीर का तापमान संतुलित रहेगा। इसका ध्यान न रखने पर बॉडी over heat हो जाती है ! जिससे बच्चे को नुकसान पहुंचता है !
  • Microwave oven का ज्यादा इस्तेमाल करने पर उससे होने वाले रेडिएशन का असर शिशु पर पड़ता है! उसके विकसित हो रहे दिमाग व अंगों पर खराब प्रभाव पड़ता है! इसलिए pregnant lady को यह Pregnancy care tips अपनाकर microwave का खुद के द्वारा किये जाने वाले इस्तेमाल से बचना चाहिए!
  • यदि किसी कारणवश Fever इत्यादि के कारण गर्भवती महिला डॉक्टर के पास Treatment के लिए जाती है, तो उसे Doctor बताना चाहिए की वह Pregnant हैं और इस बात की ध्यान में रखते हुए ही वे इलाज करें और मेडिसिन दे !
Pregnancy During Travelling Care In Hindi 

pregnancy care in 5th month in hindi में यह जरुरी नहीं है की महिला गर्भ से है, तो वह Travel नहीं कर सकती इन नौ महीनों में बहुत सारे ऐसे मौके आ सकते हैं ! जब महिला को न चाहते हुए भी Travel करना पड़ सकता है ! इसलिए  Pregnant Lady को ट्रेवल करते वक्त भी बहुत सारी Pregnant care tips का अनुसरण करना पड़ सकता है, कुछ बातो का ध्यान रखना पड़ सकता है !

  • यदि कोई गर्भवती महिला को व्यवसायिक कारणों से Travelling करनी पड़ती है तो वह Maternity Benefits Act का फायदा ले कर यात्रा करने के जोखिम से बच सकती है !
  • कार में सीट बेल्ट लगा कर बैठे तथा प्लेन में यात्रा करते समय खूब पानी पिए ! शरीर में पानी की कमी हो सकती है! शरीर को स्ट्रेच करती रहें और किसी भी सफर में जाने से पहले Doctor से पूछ लें !
  • गर्भकाल के शुरुवाती 3 महीने सबसे ज्यादा critical होते है, इसलिए doctors भी यात्रा ना करने की सलाह देते है !
  • यह अवधि पूर्ण होने के बाद ट्रेन, कार से यात्रा की जा सकती है ! सबसे आरामदायक ट्रेन का सफर होता है, क्योकि उसमे उठने बैठने, चलने की सुविधा रहती है !
Mood Swing Care during Pregnancy in Hindi
  1. Mood Swings को काबू करने के लिए अच्छी तरह खाएं, पूरी नींद लें, हर समय लेटी ना रहें ! चलें-फिरें, कुछ काम करें, रूटीन तोड़ें ! रोज व्यायाम करें, पति के साथ चिंताएं शेअर करें ! उनके साथ वक्त गुजारें, ध्यान (Meditation) करें !
  2. सबसे जरूरी है कि अपने mood swing के बहाव में ना बहने लगें ! अपने आपको रिलेक्स रखें ! रिलेक्स देनेवाली मसाज करवाएं , मनपसंद Hair Style बनाएं। खुद को पेंपर करें। दोस्तों के साथ पिक्चर देखें, अच्छी किताबें पढ़ें, संगीत का आनंद लें ! Mood में उथल-पुथल महसूस होने पर शावर लें, इससे आप रिलेक्स महसूस करेंगी !
  3. कई महिलाएं छठे से दसवें हफ्ते तक मूड स्विंग्स  से बाहर आ जाती है ! लेकिन कई बार बच्चा पैदा होने से कुछ समय पहले मूड  में तेजी से बदलाव आता है मूड  स्विंग्स  थकान मिचली छाती में जलन और मेटाबोलिज्म  में परिवर्तन आने की वजह से होता है !
Pregnancy During  Emotional Support Required  
  1. यदि आप परेशान हैं और बहुत थकान महसूस कर रही हैं, तो नींद आना मुश्किल है! ऐसे में अपने दिमाग को शांत रखने के लिए आरामदायक योगासन करें ! जब नींद ना आ रही हो, सीधी लेट जाएं, अपनी पैरों को स्ट्रेच करें ! इससे प्रेगवेंसी के दौरान लचीलापन बना रहता है ! व्यायाम व योग किसी एक्सपर्ट की देखरेख में ही करें ! अपने पैरों, हाथों की मसाज हल्के हाथ से कराएं !
  2. Herbal Tea लें या शहद के साथ दूध लें ! आहार Calcium युक्त रखें ! इससे आराम से नींद आने के साथ पेरों में क्रैंप्स की शिकायत भी नहीं रहेगी !
  3. अच्छी नींद मेंटेन रखने के लिए सोडा, कॉफी, चाय जैसे कैफीनयुक्त पेय कम से कम लें ! सुबह-सुबह या दोपहर में चाय-कॉफी ना ही लें तो बेहतर होगा ! अपने सोने जागने का टाइम निश्चित करें ! वक्त से उठे, वक्त से सोएं ! और हल्के गरम पानी से नहाए !
  4. Doctor से जो पूछना चाहती हैं, डायरी में लिख लें, ताकि आशंकाओं का समाधान हो जाए !
  5. पति पत्नी दोनों प्रेगनेंसी पालन करने और गर्भधारण के बाद काउंसलिंग  के लिए साथ-साथ डॉक्टर  के पास जाएं ! जब दोनों साथ डॉक्टर  के पास जाते हैं तो सारी बातें एक साथ जान पाते  हैं, जिस से दोनों को  मिल कर बच्चे के आने की तैयारी करने में आसानी होती  हैं,और डिलीवरी से संबंधित मुश्किल फैसले ले पाते हैं ! पति की मौजूदगी पत्नी को शक्ति मिलती है ! पति के साथ होने पर यदि पत्नी कुछ पूछना भूल जाती है, तो पति याद दिला देते हैं !

उम्मीद है की हमारे इस पोस्ट pregnancy care tips first 3 months in hindi से आपको काफी सारी जानकारी प्राप्त हुई होगी आपको ये पोस्ट कैसे लगा आप आपने विचार कमेंट बॉक्स जरिये बता सकते है ! इस आर्टिकल को आप आपने दोस्तों और रिलेटिव्स को भी सेंड कर सकते है, facebook, whatsup, twitter, और Google plus के जरिये !

inhe bhi jarur padhe :-

About the author

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
DMCA.com Protection Status