Child Care

janiye navjat shishu ki dekhbhal kaise kare gharelu nuskhe tips in Hindi

चाइल्ड केयर कैसे करे :

बेहतर पेरेंट्स :

सभी माता पिता (पेरेंट्स ) अपने बच्चे को बेहतर ज़िन्दगी देना चाहते है,माता पिता (पैरेंट ) बच्चे के लिए वो सब करते है जो उनके जीवन को उचित बना सके और माता पिता और परिवार की सीख का असर बच्चे पर अधिक पड़ता है

isliye maa-baap ko apne bachho ke samne is baat par dhyaan dena chahiye ki unka bartav sahi ho jiska asar baccho par bhi achha ho aur voh bade hokar unhe Mother’s Day Father’s Day par thank you bolkar unka samman kare.

 

किन चीज़ों से परहेज़ : बच्चो के खाने पर 

ज्यादातर बच्चे खाने में मीठा पसंद करते है जैसे की चॉक्लेट ,टॉफी आदि “लेकिन बच्चो को बचपन से ही मीठी चीज़े (शक्कर से बनी चीज़े ) नहीं देनी चाहिए कयूकि इससे बच्चो हो सकती है कई बीमारिया आइए हम बताते है कि कैसे मीठी चीज़े करती है बच्चो की सेहत में नुकसान 

vaise toh kuch bimariya baccho ko maa-baap se lag jaati hai isliye mata-pita ko bhi apne swasthya aur khaan-peen par dhyan dena chahiye aur kuch genetic issues bhi hote hai jaise jin bacho ke maa-baap ki height kam hoti hai unke bachhe bhi chote paida hote hai lekin pareshan na ho humare paas height badhane ke tarike bhi hai.

 

*दातो में सड़न:

सफ़ेद शक्कर में मिला केमिकल बच्चो के दातो को सड़ा देता है जिससे दाँत जल्दी कमजोर होकर गिर जाते है !

 

*पाचनतंत्र कमजोर होना 

सफ़ेद शक्कर को ज्यादा खाने से पाचनतंत्र कमजोर होता चला जाता है जिससे बच्चे को  पेट की बीमारिया भी लग जाती है तथा ये पेट में  सफ़ेद सक्रंमण भी पैदा कर सकती है !

bachho ko bachpan se hi pet ki samasya se jujhna padta hai aur fir voh samasya unke jiwan kaal tak ban jaati hai lekin is kabj ki samasya ka ilaaj bhi hai humare paas  hai jo apko apki purani se purani kabj ki smasya se chutkara dilayega.

 

*मोटापा बढ़ना 

यह भी कहा जा सकता है कि अगर बच्चे बचपन  से अधिक मीठा खाते हो तो आगे चलकर उनको मोटापे कि समस्या भी हो सकती है सफ़ेद शक्कर बच्चे कि  इम्युनिटी को बहुत ही कमजोर बना देती है !

motapa toh aajkal ek bahut hi khatarnak bimariyon mein shamil ho jaata hai mana ki bache healthy, cute, golu-molu achhe lagte hai lekin bache ki age se jyada aur doguna wajan agar bache ka ho jaye toh yeh ek khatre ki ghanti hai jo baar baar apke samne aakar bajegi aur apko pareshan karegi toh usse pareshan na ho uske liye hum apko Motapa kaise kam kare uske bare mein bata rahe hai.

Kuch bache aur unke mata-pita isliye bhi pareshan hote hai ki unka wajan kam hai kyunki wajan adhik hona bhi khatarnak hai aur kam hona bhi dono hi conditions meinvoh sochte hai ki kuch bimari hai ya koi pareshani, toh ghabrane ki jarurat nahi hai humare paas wajan badhane ke tarike bhi hai.

 

बच्चो का आहार कैसा हो ?

जैसा कि हम जानते कि बच्चो को बाहर का खाना बहुत पसंद होता है तथा बच्चे घर का खाना खाने में बहुत नखरे दिखाते है  जिस वजह से उनके शरीर को पोषक तत्व नहीं मिल पाता, तथा आने वाले समय पर वह बीमार पड़ जाते है यही नहीं उनको भविष्य में आनी वाली बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है इसी उम्र में उनका मानसिक और शारीरिक विकास होता है

इसलिए इस उम्र में उनको पौष्टिक आहार देना बहुत जरुरी है इसी उम्र में उनका मानसिक को शाररिक विकास होता है इसलिए इस उम्र में बच्चो पोषिक आहार देना बहुत जरुरी है

हर माता पिता (पेरेंट्स) को ये जानना जरुरी है कि वे अपने बच्चे को क्या जरुरी चीज़े खिलाये जिससे कि आने वाले भविष्य में उनके बच्चे कि सेहत ठीक रह सके !

यदि आपका बच्चा खाना खाने में नखरे दिखाए तो आप उनको पौष्टिक चीज़े देने का तरीका बदले.बच्चे  के खाने में हर वो चीज़े शामिल करनी चाहिए  जिससे आपका बच्चा स्वस्थ व निरोगी रह सके !

Aur iske sath hi aap is post ko aur bhi mata-pita aur aas-pados ke logon ke sath social media ki madad se share karein vaise toh apko is post se bahut si jankari mili hogi aur jankari ke liye aap child care baby tips books bhi padh sakte ho,

child care products, child skin care tips at home ye sab bhi aap jaan sakte ho aur comment karke post se juda koi bhi sawal aap puch sakte ho.

इनको भी पढ़ो 

About the author

admin

Leave a Comment

DMCA.com Protection Status